Tuesday, December 18, 2012

YAAARANAA!!!!!!



2010 की थी यह बात, जब पहली बार हुई थी मुलाकात,
सबसे पहले निकले अल्फाज, "क्या मिठाई खायेंगे आप"?

उसको समझ पाने में मुश्किल तब होती, अगर वोह, वोह न होती 
बॉलीवुड डायलॉग्स की महारानी, हर बार करती मनमानी थी 
है वोह साहस से भरी, पर छिपकलियों से डरती थी
शौपिंग की शोह्किन, हर फुटवियर शॉप पर रूकती थी 
मैक चिकन बर्गर की दीवानी, डबल चीस ही खाती थी
न कही बाते पल में समझ वोह जाती थी
मै कितना छुपाती, हर बार पकड़ी जाती थी 
दोस्त नहीं वोह तो दोस्ती की एक मिसाल थी 
दोस्तों के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार थी।।

बहन का प्यार , माँ का दुलार, सहेली का साथ
क्या कहू वोह सारे बंधन निभाती, पल मे कुछ भी बन जाती 
दिन से रात की मस्ती, साथ बिताया हर पल याद आता है 
बिना टिकेट ट्रेन का सफ़र, डेंटिस्ट का डर, पुलिस का चक्कर,
दिलपसंद से फलूदा, काम बंक कर थिएटर को जाना, 
दुसरो को डराना और भाग जाना, लोट-पोट कर हसाता है
कल हो न हो जीले जरा हर पल केहते जाता है    
आज पास न होकर भी वोह पास है, वही अपनों जैसा एहसास है 
याद बहुत वोह आती है, कभी रुलाती तोह कभी हँसाती है।।

कभी कोई अपने तो कभी अपने पराये बन जाते 
कुछ यादें और कुछ सबक बनकर रह जाते
सोचती हु अगर वोह न होती तो क्या होता, सब अपना कब लगता
आगे बढने को कौन बोलता, कौन टोकता 
ख़ुशी हुई की मैंने एक ऐसे दोस्त को पाया 
जिसने हर तरह से हर जगह मेरा साथ है निभाया 
दोस्ती क्या होती है आओ हम बताते है, ऐसा ही कुछ उसने कर दिखाया।।


Dedicated to my closest friend "Soumya Kori" 
Keep laughing Soumiii !!! 
Love you always :)


Here is Birthday surprise Video